कैसा बुध्दू बनाया

बंताजी एक इमारत की दो सौंवीं मंजिल पर खड़े थे

तभी एक आदमी आया और कहने लगा-‘बड़ा गजबहुआ आपका बेटा मर गया!

बंताजी बोले-‘क्या कहा ? चलो-चलो जल्दी चलो।

नीचे आने पर वे जोर-जोर से हॉफने के साथ-साथ हँसने भी लगे।

इस पर आदमी आश्चर्य से भर गयाउसने पूछा ‘आपका बेटा मर गया और आप हँस रहे हैं ?

बंताजी पेट पकड़ कर हँसते हुए बोले दो सौँ माले उतार दिए और कैसा बुध्दू बनाया मेरी तो अभी तकशादी ही नहीं हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Solverwp- WordPress Theme and Plugin