चूंकि मैं एक पुरूष हूँ

चूंकि मैं एक पुरूष हूं जब मैं अपनी कार की चाबी कार के अंदर भूत्र जाता हूँ तो मैंतुम्हारे इस सुझाव को कि हमें किसी सर्विस सेन्टर वाले को तत्काल बुला लेना चाहिएअनदेखा करते हुए कपड़े सुखाने वाले हैंगर के तार से तब तक कार का दरवाजा खोलने कीकोशिश करता रहूंगा जब तक कि दरवाजे का ताला खराब न हो जाए या मैं ही पूरी तरहपस्त न हो जाऊँ ।

चूंकि मैं एक पुरुष हूं जब मेरी कार ठीक से चाल्रू नहीं होती है तो मैं उसका बोनटउठाकर उसके इंजिन में तांक झांक करता हूँ । इस बीच दूसरा पुरूष कहीं से प्रकट होता हैऔर वह भी कुछ तार वार छूकर देखता है । फिर हममें से एक दूसरे से कहता है – मैं इनचीजों को आराम से ठीक कर लेता था । परंतु आजकल हर चीज कम्प्यूटराइज आ रही है तोयह पता ही नहीं चलता कि कहाँ से चालू करें । फिर हम दोनों बीयर पीते हुए मेकैनिक काइंतजार करते हैं ।

चूंकि मैं एक पुरूष हूं अतः जब मुझे जुकाम हो जाता है तो मैं बिस्तर पर कराहते हुएकरवटें बदलते हुए चीखता चिल्लाता हूँ कि मुझे गर्म चिकन सूप चाहिए और मेरी चिंता कोईनहीं कर रहा । मैं जिस गंभीर तरीके से बीमार पड़ता हूँ उस तीव्रता से कोई भी बीमार नहींपड़ता अतः मेरी समस्या कोई और कभी जान ही नहीं सकता ।

चूंकि मैं एक पुरूष हूँ अतः घर या ऑफ़िस का कोई भी उपकरण खराब हो जाता है तोमैं उसे खोलकर ठीक करने लगता हूँ – पुराने अनुभवों के बावजूद कि मेरे द्वारा खोले गएउपकरणों को सुधारने के लिए मेकैनिक द्वारा दोगुना चार्ज वसूला जाता है ।

चूंकि मैं एक पुरूष हूँ अतः टीवी देखते हुए टीवी का रिमोट कंट्रोल मेरे हाथों में ही होनाचाहिए. यदि रिमोट कंट्रोल कहीं किसी कोने काने में दब कर मिल नहीं रहा होता है तो मेरावो आवश्यक टीवी शो खत्म हो जाता है जिसकी मुझे तलाश होती है

चूंकि मैं एक पुरूष हूँ अतः मैं नहीं समझता कि हम कहीं रास्ता भटक गए हैं औररुककर किसी से रास्ता पूछने की आवश्यकता है भी. क्या तुम किसी अजनबी अपरिचित परभरोसा करोगी? मेरा मतलब है उसे कैसे पता होगा कि हमें कहाँ जाना है

चूंकि मैं एक पुरूष हूँ अतः यह बिलकुल जरूरी नहीं कि मैं किस समय क्या सोच रहाहोता हूँ । उत्तर हमेशा ही या तो सेक्‍स होगा या कोई खेल । जब तुम कुछ पूछोगी तो मुझेमजबूरन उन मुद्दों से हटकर कुछ अलग सोचना होगा अतः अच्छा यही होगा कि मुझसे कुछपूछो ही न ।

चूँकि मैं एक पुरूष हूं मुझसे यह मत पूछो कि मुझे यह फिल्‍म कैसी लगी । अगर फिल्मके अंत में तुम्हारी आँखों में आँसू थे तो बहुत संभव है कि उस फिल्म में मुझे बिलकुलमजा नहीं आया ।

चूंकि मैं एक पुरुष हूँ मैं सोचता हूँ कि जो तुमने अभी पहना है वह बहुत अच्छा है । मेरेविचार में जो ड्रेस तुमने पाँच मिनट पहले पहना था । वह भी बहुत अच्छा था. तुम्हारे जूतों केदोनों ही जोड़े अच्छे हैं – लेस सहित और लेस के बगैर भी अच्छे हैं । तुम्हारी हेयर स्टाइलभी बहुत अच्छी है. तुम बहुत अच्छी खूबसूरत दिख रही हो । कया अब चले चलें ?

चूंकि मैं एक पुरूष हूं और वैसे भी यह इक्कीसवीं शती है अतः घरेलूकार्य में मैं तुम्हारेसाथ बराबर का हाथ बटाऊँगा । तुम कपड़े धोने खाना बनाने घर की साफ सफाई गार्डनिंगशॉपिंग के कार्य निपटाओगी बाकी का सारा काम मैं समाचार पत्र पढ़ते हुए निपटारऊँगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Solverwp- WordPress Theme and Plugin